Bhartiyans

Menu

“भारत के विकास की गति - सुपरसॉनिक ट्रेन”

Date : 10 Nov 2016

Total View : 350

एलॉन मस्क की कंपनी स्पेस एक्स अपनी उन्नत तकनीक वाली रेलगाड़ी हायपरलूप को मुंबई और पुणे के बीच चलाने के बारे में सोच सकती हैं।


सारांश

नितीन गडकरी मुंबई-पुणे के बीच सुपरसॉनिक ट्रेन चलाना चाहते है।अगर गडकरी की इच्छा पूरी हो तो एलॉन मस्क की कंपनी स्पेस एक्स अपनी उन्नत तकनीक वाली रेलगाड़ी हायपरलूप का परीक्षण पुणे में कर सकती है।



सविस्तर बातमी

“भारत के विकास की गति - सुपरसॉनिक ट्रेन”

नितीन गडकरी मुंबई-पुणे के बीच सुपरसॉनिक ट्रेन चलाना चाहते है।
#Bharatiyans

हाल ही में उच्च तकनीकी उद्योगों के गढ माने जाने वाले अमरीका के पश्चिमी तटवर्ती इलाके का दौरा करने के बाद गडकरी ने कहा कि उन्होंने टेस्ला कंपनी के अधिकारियों के साथ अच्छा समय बिताया।

सनद रहे, टेस्ला के खरबपति संस्थापक एलॉन मस्क अपने क्रांतिकारी वैज्ञानिक सोच के लिए जाने जाते हैं।

अगर गडकरी की इच्छा पूरी हो तो एलॉन मस्क की कंपनी स्पेस एक्स अपनी उन्नत तकनीक वाली रेलगाड़ी हायपरलूप का परीक्षण पुणे में कर सकती है।
“मैंने उनसे बस एक पेशकश की... उन्हें अपने प्रयोगों के लिए एक मार्ग चाहिए था। मैंने उन्हें बताया कि वे पुणे के एकसप्रेसवे से जुड़े पश्चिमी बायपास का प्रयोग कर सकते हैं। शायद वे मुंबई और पुणे के बीच इस प्रयोगात्मक रेलगाड़ी को चलाने के बारे में सोच सकते हैं।” गडकरी ने स्पेस एक्स के नामनिर्देशन के बगैर कहा।

उन्होंने कहा कि हायपरलूप, जिसकी कल्पना प्रथमतः 2013 में रखी गई थी, व्यावसायिक उड़ानों से तेज, 1120 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चलती है, और मुंबई - नागपूर की दूरी 35 मिनट में तय करने की क्षमता रखती है।

इसके अलावा स्पेस एक्स व्यावसायिक अवकाश यात्रा के क्षेत्र में भी प्रयासरत है।
श्री गडकरी ने कहा कि हायपरलूप आज की तारीख में परिपक्व तकनीक नहीं है। इसका व्यावसायिकीकरण अभी हो रहा है। इसमें परिचालन के लिए हवा का प्रयोग किया जाता है।

कंपनी के आतरजाल संस्थल पर लिखा है कि स्पेस एक्स “हायपरलूप के एक काम करनेवाले नमूने के विकास की गति को बढ़ावा देने के इच्छुक है।”

बाद में मराठी दैनिक लोकमत द्वारा आयोजित मूलभूत सुविधाओं के एक सम्मेलन में पत्रकारों से बातचीत करते हुए महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री श्री देवेन्द्र फडणवीस ने कहा कि सरकारों के बीच ऐसी बातें जरूर हुई है, लेकिन महाराष्ट्र सरकारने उस कंपनी से कहा है कि पहले वे उत्पाद को बनाए, और बाद में राज्य में उसके परीक्षण करें।

श्री गडकरी ने कहा कि सरकार ने टेस्ला को देश में निवेश के लिए आमंत्रित किया है, चूंकि उन्होंने उस कंपनी के साफ ऊर्जा से संबंधित उत्पाद जैसे सौर ऊर्जा, बैटरी में उसका संग्रहण वगैरह में रुचि दिखाई है।

उन्होंने कहा कि उन्होंने श्री मस्क को भारत में कारखाना लगाने के लिए प्रोत्साहित किया। भारत के किसी बंदरगाह के समीप टेस्ला को निःशुल्क जमीन देने की पेशकश की गई है।

#Bharatiyans

Content developed by Bharatiyans for spreading Positivity and Inspirations through Positive News in India i.e. Bharat , to ensure the fulfillment of the dream foreseen by Dr. APJ Abdul Kalam in his ‘Mission 2020’ .


 

कृष्णा धारासूरकर

टीम भारतीयन्स

बातमी सौजन्य

Economic Times